ग्वालियर में जुलाई में कोरोना के 1947 मरीज मिले, मौतें 4 से बढक़र 20 हुईं

0
426
1947-corona-patients-found-in-july-in-gwalior-mp-samachar

ग्वालियर। कोरोना के नए आंकड़े हैरान करने वाले हैं। पिछले महज 31 दिन यानी 1 से 31 जुलाई के बीच ग्वालियर में कोरोना संक्रमितों की संख्या जून 240 के मुकाबले आठ गुना से ज्यादा बढक़र 1947 पहुंच गई है। रोज औसतन 62 मरीज नए मिले। इस एक महीने में मौतें भी करीब आठ गुना बढ़ी हैं। अभी तक जिले में कुल 2349 मरीज सामने आ चुके हैं और 20 लोग कोरोना से दम तोड़ चुके हैं। मरीज और मौतों के मामले में ग्वालियर प्रदेश के भोपाल और इंदौर के बाद तीसरे पायदान पर है। ग्वालियर की तरह ही भोपाल-इंदौर में भी अनलॉक-2 यानी जुलाई के 31 दिन में कोरोना संक्रमितों की बाढ़ आई। भोपाल में 3753 और इंदौर में 2714 नए मरीज मिले। इन दोनों शहरों में इस एक महीने में क्रमश: 79 और 80 कोरोना पीड़ितों ने दम तोड़ दिया।

ग्वालियर में पहले दो लॉकडाउन तक थे 5 मरीज

ग्वालियर में पहले लॉकडाउन में सिर्फ 2 संक्रमित मिले थे। दूसरा लॉकडाउन खत्म होने तक सिर्फ तीन मरीज बढ़े, लेकिन तीसरे लॉकडाउन में कोरोना पॉजिटिव नए मरीजों की संख्या 56 हो गई। चौथे लॉकडाउन में ये संख्या बढक़र 76 पहुंच गई। तीसरे और चौथे लॉकडाउन में एक-एक मरीज की मौत कोरोना के कारण हुई, लेकिन कोरोना का विस्फोट1 जून के बाद अनलॉक-1 में हुआ। इस दौरान सैंपलों की संख्या करीब चार गुना बढ़ी तो 240 नए मरीज मिले। इनमें से दो की इलाज के दौरान मौत हो गई। इसके बाद अनलॉक-2 यानी 1 जुलाई के बाद कोरोना की जैसी बाढ़ आ गई। 1 से 31 जुलाई तक 1946 नए मरीज मिले। इस दौरान कोरोना से 16 मरीजों की मौत हो गई।

इंदौर में सबसे ज्यादा 80 मौतें, मरीज भोपाल से कम

प्रदेश में 25 मार्च से 30 जून तक इंदौर में सबसे ज्यादा 4734 कोरोना संक्रमित मरीज सामने आ गए थे, लेकिन अनलॉक-टू यानी जुलाई में भोपाल और ग्वालियर शहर कोरोना का नया केंद्र बनकर उभरे। इस दौरान भोपाल में 3753, इंदौर में 2714 नए मरीज मिले जबकि ग्वालियर में 1947 मरीज सामने आए। इंदौर में इस एक महीने में 80 लोगों को कोरोना का शिकार होकर जान गंवानी पड़ी। भोपाल में 79 और ग्वालियर में 16 लोग इस एक महीने में कोरोना के कारण मारे गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here